UP पंचायत चुनावः गैंगस्टर विकास दुबे के गांव में मधु बनीं प्रधान, जीता चुनाव – Madhu became head in village Bikeru of Gangster Vikas Dubey panchayat election in up

- Advertisement -





स्टोरी हाइलाइट्स

  • बिकरू में 25 साल बाद विकास की दबंगई खत्म
  • मधु 381 वोट पाकर बिकरू गांव की प्रधान बनीं
  • विकास दुबे के परिवार के सदस्य जीतते रहे हैं चुनाव

कानपुर में गैंगस्टर की दबंगई के कारण मशहूर बिकरू गांव में आज विकास दुबे की बादशाहत में आखिरी कील भी ठुक गई. विकास दुबे की छाया से हटकर गांव की प्रधान मधु चुनी गईं. उन्होंने 381 वोट पाकर बिकरू गांव का प्रधानी पद का चुनाव जीत लिया. 

- Advertisement -

मधु ने अपने विरोधी को 54 वोटों से हरा दिया. बिकरू गांव में 25 सालों से जब तक विकास दुबे जिंदा था, जिसे वह चाहता था, वही प्रधानी का चुनाव जीतता था. 

पंद्रह साल तक उसके घर के लोग निर्विरोध ग्राम पंचायत प्रमुख का चुनाव जीतते रहे. उसके बाद दो बार विकास दुबे ने जिसे चाहा, उन्हें चुनाव में जीत मिलती रही. मगर विकास दुबे के एनकाउंटर में मारे जाने के बाद सबकी निगाहें बिकरू गांव पर थी कि इस बार किस को प्रधान चुना जाएगा.

सवाल था कि इस बार गांव वाले विकास दुबे की मर्जी के बगैर किसको प्रधान बनाएंगे. बिकरू गांव में 10 लोग प्रधानी का चुनाव लड़ रहे थे. यह सीट अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित थी. कांटे की टक्कर में मधु गांव की प्रधान का चुनाव जीत गई हैं. मधु का कहना है कि उन्होंने नाइंसाफी के खिलाफ हिम्मत जुटाई. उन्होंने नाइंसाफी के खिलाफ चुनाव लड़ और उसमें जीत दर्ज की है. 

बता दें कि त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की मतगणना कड़ी सुरक्षा के बीच हुई. कानपुर के 10 अलग-अलग ब्लॉकों में 98 कमरों में मतगणना चल रही है. मतगणना में 4420 कर्मचारियों को तैनात किया गया है. कानपुर में 9711 प्रत्याशियों के किस्मत का फैसला होना है. 

कानपुर में जिला पंचायत की 32 सीटों में 399 प्रत्याशी मैदान में हैं. ग्राम प्रधान की 590 सीटों पर 4485 प्रत्याशी किस्मत आजमा रहे हैं जबकि 789 बीडीसी सीट पर 3402 उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं. 

 





Source Link

- Advertisement -

Latest Updates