ऐसा दिखता है भारत, UK-कनाडा में तबाही मचाने वाला कोरोना वैरिएंट, पहली बार सामने आई तस्वीर

- Advertisement -





डॉ. श्रीराम कहते हैं कि cryo-EM से जांच करते समय सैंपल को लिक्विड नाइट्रोजन वाले कम तापमान में रखा जाता है. उसके बाद माइक्रोस्कोप से इलेक्ट्रॉन्स की एक तेज किरण छोड़ी जाती है. ये किरण कोरोना वायरस जैसे छोटे से छोटे पैथोजेन्स की तस्वीर लेती है. B.1.1.7 कोरोना वैरिएंट की तस्वीर में माइक्रोस्कोप ने यह भी दिखा दिया कि कैसे N501Y म्यूटेशन इंसान की कोशिकाओं के ACE2 रिसेप्टर से जुड़ रहा है. (फोटोःगेटी)







Source Link

- Advertisement -

Latest Updates